क्या NEET के वे 67 टॉपर्स दोबारा ला पाए 720 अंक? जानें री-एग्जाम होने पर कितना बदला रिजल्ट

Neet – UG :  नीट यूजी री-एग्जाम के परिणामों के साथ-साथ संशोधित लिस्ट भी सामने आई है. पिछले रिजल्ट के हिसाब से 67 कैंडिडेट्स टॉपर्स की लिस्ट में शामिल थे और अब री-एग्जाम होने पर यह संख्या घटकर 61 हो गई है. यानी री-एग्जाम देने वाले 61 छात्र ऐसे हैं, जो हाई स्कोर पाने में सफल रहे हैं. संशोधित लिस्ट के हिसाब से 6 कैंडिडेट्स टॉपर की लिस्ट से बाहर हो गए हैं.

क्या NEET के वे 67 टॉपर्स दोबारा ला पाए 720 अंक? जानें री-एग्जाम होने पर कितना बदला रिजल्ट

       सूत्रों के अनुसार, ग्रेस मार्क्स के कारण हरियाणा के सेंटर से 720 अंक पाने वाले 6 उम्मीदवारों में से केवल 5 ने दोबारा परीक्षा दी, इनमें से किसी के भी 720 अंक नहीं आए हैं. वहीं, एक कैंडिडेट ने री-एग्जाम नहीं दिया है. एनटीए की यह संशोधित सूची में उन उम्मीदवारों का नाम शामिल है, जो इस साल की शुरुआत में “ग्रेस मार्क्स” और “पेपर लीक” मुद्दों से प्रभावित हुए थे और वे उन 6 परीक्षा केंद्रों पर उपस्थित हुए थे, जहां पर परीक्षा देर से शुरू हुई थी. लॉस ऑफ टाइम के लिए इन कैंडिडेट्स को ग्रेस अंक दिए गए थे.

सिर्फ 48 प्रतिशत कैंडिडेट्स ने दिया री-एग्जाम

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

 

इसे पढ़े :-  MP Board 12th Political Science Half Yearly Exam pepar 2022-23 - Pdf Download

एनटीए ने रिजल्ट जारी किया है लेकिन री-एग्जाम देने वाले सभी कैंडिडेट्स के मार्क्स शेयर नहीं किए हैं. बता दें कि यह परीक्षा 23 जून को सात केंद्रों पर 1,563 उम्मीदवारों के लिए उपस्थित की गई थी, लेकिन सिर्फ 813 कैंडिडेट्स ही एग्जाम देने पहुंचे थे. बाकी के कैंडिडेट्स ने अपने पुराने रिजल्ट के साथ ही आगे बढ़ने का फैसला लिया है. हालांकि, उनके स्कोर कार्ड से ग्रेस मार्क्स को हटा दिया जाएगा.

हरियाणा के एक ही सेंटर से 6 कैंडिडेट्स को मिले फुल मार्क्स

 

23 मई को हुई री-एग्जाम में कई सेंटर ऐसे भी रहे थे, जहां अभ्यर्थियों की संख्या बिल्कुल ही कम रही. चंडीगढ़ में बने सेंटर पर दो अभ्यर्थियों को परीक्षा देनी थी, लेकिन दोनों ही इस परीक्षा में नदारद रहे. नीट परीक्षा को लेकर एनटीए पर आरोप लगे हैं कि ऐजंसी ने कुछ कैंडिडेट्स को ग्रेस मार्क्स दिए, जिस वजह से उनका स्कोर बढ़ गया. रिजल्ट के बाद यह भी सामने आया कि हरियाणा के सेंटर से छह उम्मीदवारों ने पूर्ण 720 अंक प्राप्त किए थे. सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिकाओं और विरोध के बाद एनटीए ने फैसला लिया था कि ग्रेस मार्क्स वाले कैंडिडेट्स का दोबारा परीक्षा ली जाएगी

5 मई को हुई थी नीट की परीक्षा

 

इसे पढ़े :-  MP Board 12th Physics Ardhvarshik Paper 2023-24 PDF Download

NEET-UG परीक्षा, मूल रूप से 5 मई को 4,750 केंद्रों पर आयोजित की गई थी, जिसमें लगभग 24 लाख उम्मीदवार शामिल हुए थे. परिणाम, जो शुरू में 14 जून को अपेक्षित थे, उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन जल्दी पूरा होने के कारण 4 जून को घोषणा की गई थी.

Next Post –

Medhavi Chhatravratti Yojana 2024: मेधावी छात्रवृत्ति योजना में आवेदन करने पर सरकार देगी फीस, ऐसे करें आवेदन

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

NEET 2024: नीट यूजी री टेस्ट नहीं देने वालों का रिजल्ट कैसे बनेगा? 750 स्टूडेंट्स नहीं दी परीक्षा

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top