Types of CSS | सीएसएस के प्रकार | CSS in Hindi

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

हेल्लो दोस्तों ! आज हम इस आर्टिकल में  Types of CSS  के बारें में पढेंगे. इसे बहुत ही आसान भाषा में लिखा गया है. इसे आप पूरा पढ़िए, यह आपको आसानी से समझ में आ जायेगा. तो चलिए शुरू करते हैं:-

     CSS का पूरा नाम है cascading style sheet. एक webpage को बनाने के तकनीक के पीछे HTML और CSS का बहुत बड़ा हाथ है. HTML के इस्तेमाल से webpage को एक आकार मिलता है और CSS के इस्तेमाल से webpage को एक नया और आकर्षक रूप मिलता है. HTML और CSS हमेसा साथ में ही इस्तेमाल किये जाते हैं. CSS के बिना हम html का इस्तेमाल कर सकते हैं मगर html के बिना css का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.

Types of CSS | सीएसएस के प्रकार | CSS in Hindi

CSS के प्रकार – Type of CSS in Hindi

CSS पर मुख्य तीन प्रकार से काम कर सकते हैं –

इसे पढ़े :-  CSS comment Property क्या हैं पूरी जानकारी हिंदी में?

1. Inline Style Sheet (इनलाइन स्टाइल शीट)

जब HTML Tag के अंदर ही CSS को Add किया जाता है तो इस प्रकार के CSS को Inline Style CSS कहते हैं. Inline Style CSS का उपयोग किसी Particular HTML Element को Configure करने के लिए किया जाता है.

इसमें CSS Style Attribute के अन्दर लिखी जाती है,

2. Internal Style CSS (आंतरिक शैली सीएसएस)

इस प्रकार के CSS में जिस पेज में Style अप्लाई करना होता है उसी पेज के HTML में Head Section के अंदर CSS की Coding की जाती है. और इसका Effect भी केवल उसी पेज में पड़ता है.

Single Page वाली Website के लिए Internal Style CSS का प्रयोग किया जाता है. इसमें CSS कोड को < Head > < / Head > के बीच में रखा जाता है.

इसमें जब Style Element का प्रयोग करते हैं तो Type Attribute का भी इस्तेमाल होता है. Type Attribute Specify करता है कि Document में किस प्रकार की Style प्रयोग की जाये.

3. External Style CSS  (बाहरी शैली सीएसएस)

इस प्रकार की CSS तब इस्तेमाल की जाती है जब बहुत सारे Webpage को Same Style दी जाती है. इसके प्रयोग से एक File में बदलाव करने से पूरी वेबसाइट में बदलाव हो जाता है.

इसे पढ़े :-  CSS Selectors in Hindi – Selectors क्या होते हैं? CSS Selector के प्रकार ?

इसमें < Link > Tag की मदद से CSS को HTML में Apply किया जाता है और इसका Effect पुरे HTML Document पर पड़ता है.Multiple Page वाली वेबसाइट के लिए External CSS का इस्तेमाल होता है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

 

CSS का इतिहास – History of CSS in Hindi

CSS को सन 1994 में Hakon Wiuam Lie ने बनाया था. और इसके बाद 1996 में W3C ने CSS का Level 1 Launch किया था. CSS4 अभी CSS का Latest Version है –

सीएसएस संस्करण – CSS Version 

  • CSS 1
  • CSS 2 
  • CSS 2.1
  • CSS 3
  • CSS 4 

CSS की कुछ सामान्य प्रोपर्टी (Basic Properties of CSS )

  • Height– इस प्रोपर्टी के द्वारा Element की उचाई फिक्स करते हैं.
  • Width – Element को चौड़ाई देने के लिए इस प्रोपर्टी का उपयोग करते हैं.
  • Color– Element में Color देने के लिए इसका प्रयोग होता है.
  • Broder – Element में Border बनाने के लिए इस प्रोपर्टी का प्रयोग किया जाता है.
  • Background Color– इसकी मदद से Element के Background में Color कर सकते हैं.
  • Margin– Element के चारों तरफ Space देने के लिए इसका प्रयोग होता है.
  • Padding – Element में Padding को निर्धारित करने के लिए इस प्रोपर्टी को इस्तेमाल में लाया जाता है.

Leave a Reply

error: Content is protected !!